♦ परियोजना एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन एवं निर्णय प्रक्रिया में पारदर्शिता तथा जवाबदेही को प्रोत्साहित करना एवं जन सामान्य को योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी सुलभ कराना।

♦ सरकारी कार्मिकों एवं जनप्रतिनिधियों की जनता के प्रति जवाबदेही सुनिश्चित करना।

♦ परियोजनाओं के क्रियान्वयन के प्रत्येक स्तर पर जन भागीदारी बढ़ाना।

♦ जनता में अपने विधिसम्मत अधिकारों तथा हकदारी के प्रति जागरूकता बढ़ाना, जानकारी देना एवं शिक्षित करना।

♦ कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में अनियमितताओं पर रोक लगाने तथा उनके प्रभावी क्रियान्वयन हेतु सुझाव देना।

♦ अपनी जरूरतों एवं परिवादों को व्यक्त करने के लिए सामूहिक प्लेटफार्म- जैसे सोशल आडिट ग्रामसभा सुलभ कराना, ग्रामसभा में प्रतिभागिता को सुदृढ़ करना, ग्रामसभा को सर्वसमाहित एवं प्रतिभागी संस्था के रूप में विकसित करना ताकि वह सकारात्मक सामूहिक कार्यकलापों के लिए प्लेटफार्म बन सके।

♦ सोशल आडिट में प्रतिभाग करने हेतु स्थानीय पणधारकों की क्षमता का उन्नयन करना।

♦ गुणवत्तापूर्ण विकास सुनिश्चित करना।

♦ परियोजनाओं एवं कराए गए कार्यों का लाभार्थियों पर प्रभाव की समीक्षा करना।
   
सोशल आडिट कैलेण्डर
सोशल आडिट रिपोर्ट
शासनादेश
निदेशालय के परिपत्र
विज्ञप्ति
फोटो गैलरी
जन-जागरूकता
NSAP का सोशल आडिट
अभिनव पहल