सोशल आडिट कैलेण्डर
सोशल आडिट रिपोर्ट
शासनादेश
आयुक्त/रो०गा०आ० के परिपत्र
निदेशालय के परिपत्र
प्रशिक्षण
फोटो गैलरी
सो०आ० प्रगति आख्या
   
सोशल ऑडिट का मुख्य प्रयोजन
 
महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम की धारा-17 में सोशल ऑडिट की व्यवस्था की गई है| सोशल ऑडिट का मुख्य प्रयोजन निम्नवत है:-
व्यवस्था की जवाबदेही सुनिश्चित करना
जन-सहभागिता बढ़ाना
कार्य एवं निर्णय प्रक्रिया में पारदर्शिता लाना
जनसामान्य को अधिकारों एवं हकदारी के बारे में जागरूक करना
कार्ययोजनाओं के चयन एवं क्रियान्वयन पर निगरानी रखना
16-दिसम्बर-2016
वर्ष 2017-18 के लिए सोशल आडिट टीमों के गठन विषयक विज्ञप्ति के निरस्तीकरण के संबंध में।
 
16-दिसम्बर-2016
प्रदेश में वित्तीय वर्ष 2016-17 में संपन्न सोशल आडिट की सूचना प्रेषण के संबंध में।
 
07-दिसम्बर-2016
वित्तीय वर्ष 2015-16 में कराए गए कार्यों के सोशल आडिट के लिए तृतीय तिमाही में छूटी ग्राम पंचायतों की पुनः तिथि निर्धारण के संबंध में।
 
   
होम | गाइडलाइंस | संगठनात्मक संरचना | सूचना का अधिकार | सम्पर्क

Site Designed & Developed by: Social Audit Directorate, U.P., Lucknow
Best viewed in 1024x768 pixels resolution.
Last Updated :  March 23, 2016
Total Visits: total visits